गोरखपुर: रक्षाबंधन पर स्वयंसेवक भगवा ध्वज को बांधा गया रक्षा सूत्र, सांसद रवि किशन रहे मौजूद - Tahkikat News

आज का Tahkikat

Tuesday, 4 August 2020

गोरखपुर: रक्षाबंधन पर स्वयंसेवक भगवा ध्वज को बांधा गया रक्षा सूत्र, सांसद रवि किशन रहे मौजूद

कृपा शंकर चौधरी

  रक्षाबंधन पर  स्वयंसेवक भगवा ध्वज को बांधा गया रक्षा सूत्र, सांसद रवि किशन रहे मौजूद

गोरखपुर,4 अगस्त । मंगलवार को राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ मालवीय प्रभात शाखा मालवीय नगर दक्षिणी भाग गोरखपुर  के स्वयंसेवको ने सांसद रवि किशन के आवास पर भगवा ध्वज् को रक्षा सूत्र बाँध कर वार्षिक उत्सव मनाया।


गोरखपुर के सांसद रवि किशन भी इस अवसर पर मौजूद रहे।सांसद ने कहा कि जिस प्रकार  रक्षा बंधन पर  सभी बहनें अपने भाईयों के हाथों में रक्षा सूत्र के रूप में राखी बांधकर विपत्ति में अपनी सुरक्षा की याद दिलाती हैं, ठीक उसी प्रकार संघ के स्वयंसेवक हिंदू भाईयों की कलाई में राखी बांधकर समाज, देश एवं राष्ट्र की सुरक्षार्थ एकरूपता में बंधकर आत्मसमर्पण के लिए प्रेरित करते हैं।उन्होंने कहाकि देश समाज की रक्षा के लिए हम सभी जिम्मेदार है।हम सभी लोगों को समाज के प्रति अपने दायित्वो को समझना होगा।उनका निर्वह्न् करना होगा।समाज के प्रति समर्पण का भाव मुझे अपने पूर्वजो से मिला है।जिसके फलस्वरुप् मै जनकल्याण के लिए सदैव तत्पर रहूँगा।

मुख्य वक्ता चन्द्रशेखर पांडेय ने कहा कि  राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस कि पूरे देश में आरएसएस अधिकृत रूप से वर्ष में जिन छह उत्सवों को मनाता है, रक्षा बंधन उनमें से एक है। दूसरे परंपरागत और सांस्कृतिक उत्सवों में मकर सक्रांति, हिंदू साम्राज्य दिवस, वर्ष प्रतिपदा (हिन्दू नव वर्ष), गुरु पूर्णिमा, विजय दशमी राष्ट्रव्यापी स्तर पर हर वर्ष मनाये जाते है। उन्होंने बताया इस दिन हम भगवा ध्वज को रक्षा सूत्र बांधते हैं और प्रण करते है कि जब तक तन में प्राण है अपनी संस्कृति और इतिहास के प्रतीक भगवा ध्वज के मूल्यों की रक्षा करेंगे। उन्होंने कहा कि भारत के सभी लोग भाई-बहन के इस पर्व को बहनों के अगाध स्नेह, पवित्रता एवं सुरक्षा के प्रतीक के रूप में सहर्ष मनाते हैं। 

इस अवसर पर क्षेत्रीय मंत्री प्रदीप शुक्ल, रणंजय सिंह जुगनू,सांसद प्रतिनिधि समरेन्द्र विक्रम सिंह,अभिषेक मिश्रा सहित कई लोग उपस्थित रहे।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।