वाराणसी मण्डल पूर्वोत्तर रेलवे में पहला ई-पास जारी किया गया - Tahkikat News

आज का Tahkikat

Tuesday, 25 August 2020

वाराणसी मण्डल पूर्वोत्तर रेलवे में पहला ई-पास जारी किया गया

कैलाश सिंह विकास वाराणसी

 वाराणसी मण्डल पूर्वोत्तर रेलवे में पहला ई-पास जारी किया गया
 
  वाराणसी, 25 अगस्त2020 ; रेलवे बोर्ड के निर्देशानुसार पूर्वोत्तर रेलवे वाराणसी मण्डल में आज रेलवे सूचना प्रणाली केन्द्र  (CRIS) द्वारा विकसित मानव संसाधन प्रबन्धन प्रणाली(एचआरएमएस) परियोजना के ई-पास माॅडयूल के तहत मण्डल के कार्यरत कर्मचारियों के लिए ई-पास की एक नई सुविधा प्रारम्भ हो गयी है। जिसके तहत मण्डल में पहला ई-पास एवं यात्रा टिकट वरिष्ठ कार्मिक अधिकारी श्री सनथ जैन का मंडुवाडीह से नई दिल्ली जाने हेतु जारी किया गया है। इस व्यवस्था के अन्र्तगत कार्यरत कर्मचारियों के लिए जारी हो रहे सुविधा पास, पी.टी.ओ. इत्यादि सभी ई-पास व्यवस्था के माध्यम से आनलाइन जारी किये जाएंगे। इसके लिए मानव संसाधन प्रबन्धन प्रणाली(एचआरएमएस) पोर्टल का प्रयोग किया जाएगा।
 ई-पास क्रियान्वित करने के लिए सभी स्टेशनों पर पीआइए(पास इश्युईइंग अथारिटी) एवं पीसी (पास क्लर्क) बनाए जायेगें, जिनको लाॅग इन आईडी व पासवर्ड दिया जायेगा।
 कर्मचारी अपना पास - आवेदन ऑनलाइन  माध्यम से प्रस्तुत कर सकेगा। यह पूरी प्रक्रिया पेपर रहित है, जिसमें आवेदन से लेकर टिकट बनाने तक सारी प्रक्रिया आनलाइन होगी।  
ई-पास प्रक्रिया के पूर्ण रूप से प्रारम्भ होने तक तथा कर्मचारियों को असुविधा न हो इसके लिए वर्तमान में प्रचलित प्रणाली भी कार्य करती रहेगी तथा माह अक्टूबर 2020 से ई-पास पूर्ण रूप से लागू हो जायेगा। सेवानिवृत्त कर्मचारियों एवं अन्य पास धारकों के लिए भी ई-पास की व्यवस्था शीध्र प्रारम्भ की जायेगी।
ई-पास प्रक्रिया के क्रियान्वयन सेे वर्तमान महामारी के दौर में संक्रमण से बचाव होगा एवं रेलवे के डिजिटाइजेशन की ओर बढ़ रहे कदम के साथ ही यह पेपर की खपत में कमी करने में भी सहायक होगा।
   आवेदन की पूरी प्रक्रिया ’मोबाइल अनुकूल’ है। कर्मचारी द्वारा पी.आर.एस एवं यू.टी.एस काउंटर तथा आईआरसीटीसी साइट पर जाकर ई-पास द्वारा टिकट की बुकिंग ऑन लाइन की जा सकती है।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।