गोण्डा:एक छत के नीचे दिए पंचायत की समस्त जानकारियों को ग्राम पंचायत तक पहुँचाने की योजना धरासायी पंचायत भवन निष्प्रयोजन होकर गिरने को तैयार - Tahkikat News

आज का Tahkikat

Wednesday, 12 August 2020

गोण्डा:एक छत के नीचे दिए पंचायत की समस्त जानकारियों को ग्राम पंचायत तक पहुँचाने की योजना धरासायी पंचायत भवन निष्प्रयोजन होकर गिरने को तैयार

राकेश सिंह गोण्डा 

एक छत के नीचे दिए पंचायत की समस्त जानकारियों को ग्राम पंचायत तक पहुँचाने की योजना धरासायी पंचायत भवन  निष्प्रयोजन होकर गिरने को तैयार

करनैलगंज,गोण्डा । लाखों की लागत से बने  ग्राम पंचायत भवन खजुरिया की हालत खस्ता हो चुकी है। भवन देखभाल व मरम्मत के आभाव में जर्जर हो गया है। सरकारी भवन के सामने पानी भरा हुआ था। मुख्य गेट गायब थे। भवन की हालत तो किसी खंडहर से भी बदतर थी।

भवन पर लगे पत्थर के अनुसार कार्यदायी संस्था जिला पंचायत गोण्डा द्वारा पिछड़ा क्षेत्र निधि योजनान्तर्गत वर्ष 2008-9 में इस भवन को करीब 14 लाख की लागत से बनाया गया है। गांव वालों ने बताया कि जब से यह भवन बना तब से यहां कोई भी अधिकारी या ग्राम प्रधान इसे देखने तक नहीं आये। गांव के विकास के लिए यहां बैठना या बैठक करना तो दूर की बात रही। भवन कई जगह से दरक चुका है। अब बच्चों के खेलने का अडडा जरूर बन गया है। सबसे हैरत तो तब हुई जब यहां के विशाल मीटिगं हाल में डनलप खड़ी मिली। इसके दुरूपयोग की कहानी कुछ अलग है यहां कमरों में लोगों ने भूसा भंडार कर रखा है।शौचालय क्षतिग्रस्त हो चुके है। परिसर में लगे बबूल का पेड़ आंधी में तिरक्षा हो गया था जिसे गांव वालों ने बांस के सहारे रोक रखा है। पंचायत भवन तो वानगी मात्र है पूरी ग्राम पंचायत में सरकारी धन की जमकर बरबादी हुई है। ग्राम प्रधान सुरेंद्र कुमार द्विवेदी ने बताया कि ग्राम सभा मे दो पंचायत भवन है। एक मे बैठक होती है दूसरा निष्प्रभावी है। जिसमे गांव के एक व्यक्ति का छप्पर गिर गया था। उसका भूषा बरसात में भीग रहा था। उसने कुछ दिन के लिए अपना सामान व भूषा रख लिया। उसे हटवा दिया जाएगा

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।