बस्ती:किसान बिल के विरोध में भाकियूं ने एसडीएम को सौंपा ज्ञापन - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News

आज का Tahkikat

Friday, 25 September 2020

बस्ती:किसान बिल के विरोध में भाकियूं ने एसडीएम को सौंपा ज्ञापन

बस्ती रूधौली से मोहित गुप्ता की रिपोर्ट

किसान बिल के विरोध में भाकियूं ने एसडीएम को सौंपा ज्ञापन

केंद्र द्वारा लागू किए गए 'एक देश, एक किसान' बिल पर जताई आपत्ति

रुधौली: शुक्रवार को भारतीय किसान यूनियन के पदाधिकारियों कार्यकर्ताओं ने उप जिलाधिकारी से मिलकर केंद्र सरकार द्वारा लागू किए गए किसान संशोधन बिल के विरोध में ज्ञापन पत्र सौंपा। ज्ञापन में बकाया गन्ना मूल्य भुगतान सहित मांगे भी शामिल है।

संगठन की ओर से तहसील अध्यक्ष रामकृष्ण चौधरी ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा पांच जून को लागू किए गए अध्यादेश का किसान पूरे देश में विरोध कर रहे हैं,  सरकार द्वारा इन अध्यादेशों को एक देश एक बाजार के रूप में कृषि सुधार की दिशा में एक बड़ा कदम बताया जा रहा है, वहीं दूसरी ओर किसान संगठन इसे कृषि क्षेत्र के कंपनी राज के रूप में देख रहे हैं। किसानों को सरकार के इस कदम से कंपनियों द्वारा बंधुआ मजदूर बनाए जाने का खतरा सता रहा है। ऐसे बिल को देश का किसान संगठन कतई मंजूर नहीं करेगा। किसान स्वतंत्रता था , है और हमेशा रहेगा। इसके साथ ही सौंपा मांग पत्र में संगठन के कार्यकर्ताओं ने कृषि और किसान विरोधी तीनों अध्यादेश को वापस नहीं जाने, न्यूनतम समर्थन मूल्य को सभी फसलों पर लागू करते हुए कानून बनाए जाने, बकाया गन्ना मूल्य में ब्याज जोड़कर भुगतान कराए जाने जंगली हम आवारा पशुओं से फसलों की सुरक्षा के उपाय किए जाने अत्यधिक दृष्टि के कारण हुए नुकसान का आकलन करा कर किसानों को मुआवजा दिलाने शिक्षा की आवश्यकता को देखते हुए बच्चों को शिक्षा की व्यवस्था के नाम पर पुलिस द्वारा किए जा रहे उत्पीड़न पर रोक लगाने की मांग की है।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।