धरने पर बैठे सपा कार्यकर्ता ने एसडीएम के आश्वासन के बाद धरना किया खत्म - Tahkikat News

आज का Tahkikat

Friday, 4 September 2020

धरने पर बैठे सपा कार्यकर्ता ने एसडीएम के आश्वासन के बाद धरना किया खत्म

रिपोर्टर राजित राम यादव बस्ती

धरने पर बैठे सपा कार्यकर्ता ने एसडीएम के आश्वासन के बाद धरना किया खत्म

 जनपद बस्ती अंतर्गत दुबाैलिया ब्लाक के ग्राम-गौरा,सैफाबाद तटबंध के पास बैरागल ग्राम पंचायत के भरपुरा में कटान को रोकने को लेकर सपा कार्यकर्ता धरने पर बैठ गये।कार्यकर्ताओं ने राज्यपाल को सम्बोधित चार सूत्रीय मांग पत्र एसडीएम हर्रैया को सौंपा।सपा कार्यकर्ताओं ने चार सूत्रीय राज्यपाल को सम्बोधित ज्ञापन पत्र में दलपतपुर के पास ठोकर निर्माण,भरपुरवा गांव वासियों को सुरक्षित स्थान पर विस्थापित करने एंव जीवन यापन करने के लिए आर्थिक मदद, दिलासपुरा,पहड़वापुर के लोगों को सुरक्षित स्थान पर विस्थापित कर आर्थिक मदद एंव आवास दिये जाने की मांग को प्रमुखता से शामिल किया है। धरने की सूचना पर पहुंचे एसडीएम विनय कुमार सिंह तथा तहसीलदार चंद्रभूषण प्रताप के आश्वासन के बाद सपा कार्यकर्ताओं ने धरना खत्म किया।धरने के दौरन सपा जिलाध्यक्ष महेन्द्र नाथ यादव, समीर चौधरी, प्रदीप यादव (मुलायम) ने बाढ़ प्रभावित लोगों की समस्या को प्रमुखता से रखा।इस मौके पर चन्द्र भूषण यादव, राम पाल चौधरी, झिन्ने लाल यादव, परशुराम, अम्बिका प्रसाद, मंशाराम कन्नौजिया, आशाराम, तिलकराम सहित बड़ी संख्या में लोग मौजूद है।गुरुवार को प्रशिक्षु एसडीएम विनय कुमार सिंह एवं तहसीलदार चंद्रभूषण प्रताप ने बाढ़ ग्रस्त गांव भरपुरवा के बाढ़ पीड़ितों को विस्थापित करने के लिए बैरागल ग्राम पंचायत के प्राथमिक विद्यालय के निकट जमीन का चिन्हांकन करने के लिए पहुंचे उन्होंने कहा बाढ़ पीड़ितों को जल्द से जल्द विस्थापित किया जायेगा


No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।