किसानों पर दर्ज मुकदमे वापस ले योगी सरकार- ओमप्रकाश राजभर - Tahkikat News

आज का Tahkikat

Sunday, 8 November 2020

किसानों पर दर्ज मुकदमे वापस ले योगी सरकार- ओमप्रकाश राजभर

राकेश सिंह गोण्डा 

किसानों पर दर्ज मुकदमे वापस ले योगी सरकार- ओमप्रकाश राजभर

बभनजोत गोंडा। रविवार को सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी की समीक्षा बैठक स्वर्गीय राम औतार सिंह इंटर कालेज केशवनगर पश्चिमी गोंडा  में आयोजित की गई

बैठक को संबोधित करते हुए कार्यक्रम के मुख्य अतिथि तथा सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि सरकार ने अच्छे दिन के सपने दिखाकर पिछड़ों तथा दलितों के साथ छल किया है श्री राजभर ने मंहगाई पर सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि आज आलू के दाम 40 रूपए किलो तथा दाल की कीमत भी पहले से दो गुने दामों पर बेचा जा रहा है 

पराली जलाने पर किसानों के खिलाफ दर्ज मुकदमों से नाराज़ दिखे पूर्व मंत्री

ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि सरकार पराली जलाने पर किसानों को जागरूक करने के बजाय किसानों पर मुकदमे दर्ज कर रही है और किसानों को जेल भेज रही है इसपर हम चुप नहीं बैठेंगे श्री राजभर ने कहा कि सरकार किसानों पर दर्ज मुकदमे वापस नहीं लेती है तो वह लखनऊ में किसानों के साथ धरना प्रदर्शन करेंगे

श्री राजभर ने कहा कि जिस तरह सरकार कोरोना वायरस महामारी से बचने के लिए तरह तरह से लोगों को जागरूक कर रही है उसी प्रकार किसानों को भी जागरुक करने की आवश्यकता है 
श्री राजभर ने किसानों के खिलाफ दर्ज मुकदमों पर कड़ी नाराजगी जताई
बैठक की अध्यक्षता जिलाध्यक्ष राधेश्याम राजभर उर्फ पप्पू राजभर ने किया
कार्यक्रम का संचालन प्रदेश महासचिव तुलसीराम राजभर ने किया

समीक्षा बैठक में जिला अध्यक्ष राधेश्याम उर्फ पप्पू राजभर, पूर्व जिला पंचायत प्रत्याशी राम लौटन पटेल, रजिया बानो, शुभम श्रीवास्तव, विधानसभा अध्यक्ष उमाशंकर राजभर, जिला महासचिव नरसिंह राजभर, नन्हे राजभर,राम निवास राजभर, बृजेन्द्र पटेल, अशोक वर्मा सहित कई लोगों ने भाग लिया

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।