बांदा : आठ लाख का कर्ज बना आत्महत्या का सबब! - Tahkikat News

आज का Tahkikat

Thursday, 17 December 2020

बांदा : आठ लाख का कर्ज बना आत्महत्या का सबब!

सलिल यादव बांदा

बांदा : आठ लाख का कर्ज बना आत्महत्या का सबब!

बांदा। आठ लाख का कर्ज बन गया फांसी का सबब।आर्थिक रूप से  दिक्कत झेल रहे युवा किसान ने फांसी लगाकर जान दे दी। उस पर बैंक का आठ लाख रुपये का कर्ज बताया गया है।
सदर तहसील और शहर कोतवाली क्षेत्र के रघुवंशी डेरा (कनवारा) निवासी सुरेश (40) पुत्र रामसजीवन मंगलवार को  घर में सीलिंग फैन में साड़ी बांधकर फांसी पर झूल गया। भाई उमाकांत ने बताया कि सुरेश दो दिन पूर्व रविवार को पत्नी, बच्चों सहित साले की शादी में ससुराल पल्हरी गांव गया था। मंगलवार को सुबह पत्नी व बच्चों को छोड़कर खुद वापस घर आ गया और घटना को अंजाम दे दिया।
पत्नी ऊषा ने बताया कि इलाहाबाद बैंक का आठ लाख रुपये का कर्ज है। इसे लेकर उसका पति परेशान था। उधर, कृषि विश्वविद्यालय की नवीन पंप नहर योजना में दो बिस्वा जमीन अधिगृहीत कर ली गई। मुआवजा नहीं मिला। मृतक के दो बेटा व दो बेटी हैं। कोतवाल जय श्याम शुक्ल ने बताया कि प्रथम दृष्टतया आत्महत्या बताई जा रही है। कोई तहरीर नहीं मिली है।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।