एनआईओएस डीएलएड शिक्षकों ने यूपीटेट में शामिल न किए जाने पर मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन तरबगंज विधायक श्री प्रेम नारायण पांडेय जी को सौंपा - Tahkikat News

आज का Tahkikat

Wednesday, 9 December 2020

एनआईओएस डीएलएड शिक्षकों ने यूपीटेट में शामिल न किए जाने पर मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन तरबगंज विधायक श्री प्रेम नारायण पांडेय जी को सौंपा

राकेश सिंह गोण्डा 

एनआईओएस डीएलएड शिक्षकों ने यूपीटेट में शामिल न किए जाने पर मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन तरबगंज विधायक श्री प्रेम नारायण पांडेय जी को सौंपा

तरबगंज। एनआईओएस डीएलएड शिक्षक संघ उत्तर प्रदेश के द्वारा प्राप्त निर्देशों के क्रम में गोण्डा जनपद जिला कार्यकारिणी की बैठक कर जनपद के सभी जनप्रतिनिधियों को अपनी मांगों को लेकर ज्ञापन ज्ञापित करने का फैसला लिया गया । उसी क्रम में जनपद गोण्डा जिलाध्यक्ष महेश कुमार यादव के नेतृत्व में दर्जनों शिक्षकों ने तरबगंज के विधायक श्री प्रेम नारायण पांडेय जी से मुलाकात कर ज्ञापन सौंपा । शिक्षकों की मांग है कि 2018 - 2019 में पास यूपी टीईटी को अंकपत्र व प्रमाणपत्र दिया जाय और आगामी यूपी टीईटी व शिक्षक भर्ती में शामिल किया जाए जबकि एनसीटीई और एमएचआरडी ने एनआईओएस डीएलएड को शिक्षक भर्ती में शामिल करने का आदेश दे दिया है। शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष ने कहा कि वर्तमान सरकार गुणवत्तापूर्ण शिक्षा पर विशेष ध्यान दे रही है जैसे ही हमारी बात मुख्यमंत्री जी तक पहुंचेगी तुरंत हम लोगों को यूपीटेट में शामिल करने का आदेश दे देंगे। श्री पांडेय ने पूरा आश्वासन दिया कि आपकी बातों को शासन स्तर तक पहुंचाया जाएगा और आप लोग जल्द ही यूपीटेट में और आने वाली आगामी सरकारी शिक्षक भर्ती में शामिल होंगे ‌। ज्ञापन देने वालों में ब्लॉक अध्यक्ष तरबगंज राजकिशोर मौर्य, संदीप सिंह, काली प्रसाद यादव, शेष नारायण पांडे, राहुल पांडे, मनोज कुमार सिंह, अवधेश कुमार पांडे, देवेंद्र तिवारी, उमाशंकर गोस्वामी, दीपक चौहान, संतोष कुमार तिवारी, सत्य प्रकाश सिंह, शिवम सिंह आदि शिक्षक मौजूद रहे ।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।