बस्ती: तहसील परिसर हर्रैया के रक्तदान शिविर में प्रदीप गुप्ता बने प्रथम रक्तदाता - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News

आज का Tahkikat

Sunday, 27 December 2020

बस्ती: तहसील परिसर हर्रैया के रक्तदान शिविर में प्रदीप गुप्ता बने प्रथम रक्तदाता

राजित राम यादव बस्ती हर्रैया

तहसील परिसर हर्रैया  के रक्तदान शिविर में प्रदीप गुप्ता बने प्रथम रक्तदाता

बस्ती समाजसेवी के पहल पर प्रदीप,अशोक,राजेश सहित कई लोगों ने किया रक्तदान

आज हर्रैया तहसील परिसर में  आहूत रक्तदान शिविर में करीब पचास लोगों ने रक्तदान किया जिसमें समाजसेवी चन्द्रमणि पाण्डेय सुदामाजी के पहल पर प्रदीप गुप्ता,अशोक श्रीवास्तव, राजेश मौर्या, अखिलेश श्रीवास्तव सहित आधा दर्जन लोगों ने रक्तदान किया सम्राट नगर निवासी चाय व्यवसाई प्रदीप गुप्ता बने प्रथम व सम्राट नगर निवासी तौफीक खान द्वितीय रक्तदाता जबकि स्वयं तहसीलदार हर्रैया  व महिला लेखपाल आशा सिंह तथा प्रिया पाल सहित दो दर्जन से अधिक नगरपंचायत व तहसील कर्मियों ने रक्तदान किया इस मौके पर रक्तदान के महत्व पर प्रकाश डालते हुए किसी की जान बचाने हेतु रक्तदाता को महान बताते हुए समाजसेवी ने लोगों को प्रेरित करने के साथ साथ रक्त दाता को आवश्यकता पडने पर पूरे भारतवर्ष में रक्त उपलब्ध कराने की बात रखी उन्होंने बताया कि उनकी टीम में नवीन तिवारी 30बार जबकि ओम प्रकाश तिवारी, सूर्यमणि पाण्डेय, चन्द्र प्रकाश तिवारी, अशोक श्रीवास्तव, सहित वो खुद दर्जनों बार रक्तदान कर चुके हैं मगर खेद का विषय है कि रक्तदाता को जिले के बाहर बल्ड बैंक बल्ड उपलब्ध नहीं कराते ऐसे में रक्तदाता के उत्साह में कमी आती है उन्होंने कहा कि धन बैंक की भांति ब्लाक बैंक को भी रक्तदाता को पूरे भारत में ये सुविधा उपलब्ध करानी चाहिए इस मौके पर आधिशाषी अधिकारी हर्रैया अनुपम मिश्र, तहसीलदार चन्द्रभूषण, नायब तहसीलदार खुशबू सिंह, पी.आर.ओ.जिलाचिकित्सालय बस्ती अंजू सिंह सहित सैकड़ों की संख्या में रक्तदाता व अधिकारी कर्मचारी मौजूद रहे


No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।