कोविड-19 व माननीय न्यायालय का हो रहा खुला उल्लंघन - Tahkikat News

आज का Tahkikat

Tuesday, 27 July 2021

कोविड-19 व माननीय न्यायालय का हो रहा खुला उल्लंघन

ब्यूरो कानपुर देहात:अरविन्द शर्मा

कोविड-19 व माननीय न्यायालय का हो रहा खुला उल्लंघन 

कानपुर देहात।थाना रूरा कानपुर देहात के ग्राम गहोबा चिलौली तहसील डेरापुर मे लेखपाल एवं सरकारी कर्मचारियों द्वारा  पुलिस की मौजूदगी में कोविड-19 का हो रहा खुला उल्लंघन मौजा चिलौली परगना डेरापुर क्षेत्रीय लेखपाल नितिन बाजपेई द्वारा गांव में पंचायत लगाकर लोगों की समस्याएं सुनी जहां दिए गए प्रार्थना पत्रों का निस्तारण किया गया साथ ही प्रार्थना पत्र के अंतर्गत गांव गहोबा के रहने वाले महेंद्र सिंह की कृषि भूमि में चकरोड का विवाद चल रहा था क्षेत्रीय लेखपाल दिनांक 24 जुलाई दिन शनिवार को अपने टीम साथियों के साथ गांव पहुंचकर महेंद्र सिंह के खेतों में खड़ी फसल के मध्य उन्हें बिना सूचना किए विपक्षी लोगों को साथ लेकर जबरन पैमाइश कराई गई जहां पुलिस बल भी मौके पर मौजूद रहा इस दौरान कोविड-19 का खुला उल्लंघन किया गया जबकि पूरे प्रदेश में सप्ताह के 2 दिन शनिवार  रविवार को पूर्णता lock-down लागू है फिर भी सरकार के आदेशों का अनुपालन नहीं किया गया खेतों के मध्य चकरोड का मामला माननीय न्यायालय सिविल जज जूनियर डिविजन कानपुर देहात में विचाराधीन है न्यायालय के बिना आदेश के लेखपाल नितिन बाजपेई द्वारा अपनी टीम लेकर जबरन खेतों पर पैमाइश की जा रही है लोगों के द्वारा बताया भी गया कि इसका मामला कचहरी मैं चल रहा है फिर भी अनदेखी की गई न्यायालय के आदेश की अवहेलना कर दबंग लेखपाल द्वारा खुलेआम बिना सही नाप जो ख  किए जमीन पर गड्ढे खोदकर निशान लगा दिए गए मौके पर थाना रूरा की पुलिस बल मौजूद रही जिससे शांति व्यवस्था भंग ना हो सके इस संबंध में खेती मालिक महेंद्र सिंह से बात की गई तो उन्होंने बताया की मेरी खेती में पड़ोसी काश्तकारों के द्वारा चकरोड को खेत में मिला लिया गया है मैं जनपद कानपुर नगर में निवास करता हूं जिस कारण से पूर्णता खेती की देखभाल नहीं कर पाते हैं जिसकी कार्रवाई को प्रार्थना पत्र देकर गुहार लगाई गई परंतु फिर भी कोई कार्यवाही न हो सकी क्षेत्रीय लेखपाल द्वारा काश्तकारों की मिलीभगत निजी स्वार्थ के चलते  मुझ पर ही कार्रवाई करा दी गई जिस पर मुझे माननीय न्यायालय में शरण लेनी पड़ी दिनांक 24 जुलाई दिन शनिवार को लेखपाल के द्वारा जबरन खेत में पैमाइश कराई गई खेत के बटाईदारों को भी धमकाया गया जिसकी सूचना  थानाध्यक्ष रूरा से संपर्क किया गया तो उन्होंने बताया तहसीलदार के आदेशानुसार कार्य हो रहा है सरकारी कर्मचारियों व पुलिस के द्वारा यह खुलेआम कोविड-19 का खुला उल्लंघन हो रहा है जबकि खेत के मालिक जनपद कानपुर नगर में निवास करते हैं कोविड-19 के खुला उल्लंघन एवं माननीय न्यायालय के आदेश की अवहेलना की कार्रवाई की मांग की जा रही है देखना यह है कि अब उच्चाधिकारियों द्वारा इस पर क्या कार्रवाई की जा सकेगी।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।