कचबचिया के राजभर बस्ती को दबंगों द्वारा आग के हवाले झोंकेने के बाद हरकत में आये विश्व राजभर/भर फाउंडेशन ने बलिया जिला अधिकारी को तत्काल कार्रवाई संबंधी सौंपा ज्ञापन - Tahkikat News

आज का Tahkikat

Tuesday, 10 August 2021

कचबचिया के राजभर बस्ती को दबंगों द्वारा आग के हवाले झोंकेने के बाद हरकत में आये विश्व राजभर/भर फाउंडेशन ने बलिया जिला अधिकारी को तत्काल कार्रवाई संबंधी सौंपा ज्ञापन

रिपोर्ट -माइकल भारद्वाज बलिया

कचबचिया के राजभर बस्ती को दबंगों द्वारा आग के हवाले झोंकेने के बाद हरकत में आये विश्व राजभर/भर फाउंडेशन ने बलिया जिला अधिकारी को तत्काल कार्रवाई संबंधी सौंपा ज्ञापन


बलिया- सुखपुरा थाना अंतर्गत कचबचिया गांव के राजभर बस्ती को रात के 2:00 बजे कुछ दबंगों ने आग के हवाले कर दिया ।जिससे राजभर बस्ती में अफरा तफरी मच गया। रात को ही छोटे छोटे नन्हे मुन्ने बालक , लड़कियां, औरतें जोर-जोर से आग की लपटों को देखकर चिल्लाने लगी । *बचाओ- बचाओ* सुनकर पक्की नींद में सोए लोगों की नींद टूट गई। जब तक लोग आग को बुझा पाते तब तक तो आग की लपटों ने अपना काम कर दिया था। राजभर बस्ती के सारे लोग कराह रहे थे।

विश्व राजभर /भर फाउंडेशन  के प्रमुख महासचिव ने इस मामले को तत्काल संज्ञान में लेते हुए बलिया जिला अधिकारी महोदय को ज्ञापन सौंपा और कचबचिया लोगों ने कहा कि हम सभी परिवार बहुत ही गरीब हैं और अपने गांव में आबादी के जगह में पिछले 40-50 वर्षों से रहकर मजदूरी करके गुजर बसर कर रहे हैं। कुछ दिन पहले हमारे गांव के ही कुछ दबंग लोग जो कि गुंडा प्रवृत्त के हैं , हमारे गांव आकर हम लोगों से कहा कि यह जमीन खाली करके तुम लोग किसी और जिला में या स्थान पर चले जाओ । यह जगह हम लोग खाली कराकर  कब्जा करेंगे। हम गरीब लोगों ने कहा कि हम लोगों पर अत्याचार मत करो तो  वह दबंगों ने हमारे सभी लोगों के झोपड़ी में आग लगा दिया और कहा यहां हमारा राज चलता है जो उखाड़ना है उखाड़ लो ।
इस डर से उन दबंगों का नाम इस आवेदन में लिखने से भी डर लगता है और हमारे परिवार के बच्चे और महिलाएं बिलख बिलख कर रोती रही लेकिन अभी तक कोई भी हम लोगों की मदद के लिए नहीं आया ।

आगे श्री राजभर ने कहा कि थाने पर कुछ नहीं होता है ।यह तो सीधा-सीधा दबंगई है। हमारे समाज के लोगों पर अत्याचार करके आबादी की जमीन पर कब्जा कर रहे हैं ।40- 50 वर्षों से लोग रह रहे हैं ।यह लोग कहां जाएंगे। इनके घरों को आग लगा दिया गया है। यह लोग घर से बेघर हो गए हैं और आज तक पुलिस हाथ पर हाथ रख कर बैठी हुई है।

बताया जा रहा है कि आज उस जमीन को कब्जा करने वाले रामानंद शुक्ला नाम के व्यक्ति ने लगाया है जो व्यक्ति आदमी नहीं आदमी की शक्ल में दरिंदा है उसे इस मासूमों की चीखें नहीं सुनाई देती इनके परिवार के लोग और बच्चे कहां जाएंगे हम न्याय के लिए आए हैं इसकी शिकायत थाने में भी किए हैं तहरीर भी दिए हैं लेकिन वहां हमारी कोई शिकायत सुनी नहीं गई।

सरकार किसी की भी हो राजभर समाज पर अत्याचार होना बंद नहीं होता है आबादी का जमीन पर कैसा नोटिस किस आधार पर सुखपुरा पुलिस जबरन कचबचिया के जमीन खाली करवा रहे हैं । हमारी मांग है हमारे घरों को जलाने वाले जेल जाए कब्जा करने वाले लोगों पर कार्रवाई हो टोटल पैसे और दबंगई तथा थाने के मिलीभगत से काम हो रहा है।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।