वर्तमान समय मे ब्राह्मणों की भूमिका नामक विषेयक पर संपूर्णानंद विश्वविद्यालय में एक संगोष्ठी हुआ - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News

आज का Tahkikat

Wednesday, 4 August 2021

वर्तमान समय मे ब्राह्मणों की भूमिका नामक विषेयक पर संपूर्णानंद विश्वविद्यालय में एक संगोष्ठी हुआ

कैलाश सिंह विकास वाराणसी



 वर्तमान समय मे ब्राह्मणों की भूमिका नामक विषेयक पर संपूर्णानंद विश्वविद्यालय में एक संगोष्ठी हुआ




वाराणसी। सर्वप्रथम भगवान परशुराम जी के चित्र पर दिप प्रज्वलित कर माल्यार्पण कर कार्यक्रम का शुभारंभ हुआ।कार्यक्रम में ब्राह्मणों की वर्तमान समय मे भूमिका पर वृहद परिचर्चा हुआ।

संगोष्टी को सम्बोधित करते हुए मुख्य अतिथि पूर्व विधायक  अजय राय ने कहा की पुराणों में कहा गया है की  जिस स्थान पर ब्राह्मणों का पूजन हो ब्राह्मणों का सम्मान होता है वंहा देवता भी निवास करते हैं अन्यथा ब्राह्मणों के सम्मान के बिना देवालय भी शून्य हो जाते हैं ।और मौजूदा परिवेश में ब्राह्मणों पर सबसे अधिक अत्याचार हो रहा है यह तथाकथित हिंदुत्व वाली योगी-मोदी सरकार में सबसे अधिक ब्राह्मणों पर अत्याचार हुआ।साथ मे सपा हो या बसपा ब्राह्मणों के प्रति यह तीनों दलों ने बस लोभ-लुभावन वादे किए है।ब्राह्मणों के प्रति इस सरकारों ने कोई कार्य नही किया कार्य तो छोड़िए यह सरकार ने ब्राह्मणो को सम्मान तक नही दिया।ब्राह्मण सम्मान के आकांक्षी होते है और यह सरकार ने हाशिये पर रखा सम्पूर्ण प्रदेश में हर रोज ब्राह्मणों के ऊपर अत्याचार हो रहा है।चुनाव नजदीक है अब पुनः लोभ-लुभावन वादे सरकार द्वारा किये जायेंगे।परन्तु यह सरकार याद कर ले ब्राह्मण चाहे तो तख्त बदल सकता है ब्राह्मण कुर्सी से बेदखल कर सकता है और अब वह समय नजदीक है।ब्राह्मण सत्ता बदलने के लिए एकजुट है।श्री राय ने उदाहरण स्वरूप कहा की चाणक्य ने केवल अपनी कूटनीति से क्रूर राजा धनानंद से प्रतिशोध लेने में कामयाब रहे, बल्कि एक अत्याचारी शासक का अंत भी उन्होंने करवाकर जनता के कष्टों का निवारण किया।ठीक उसी तरह अब ब्राह्मणों को एकजुट होकर इस क्रूर शासक के रूप में सत्ता पर काबिज तानाशाहों का अंत करना चाहिए कुर्सी से बेदखल करना चाहिए, क्योंकि यह लड़ाई सम्मान व स्वाभिमान की लड़ाई है।ब्राह्मण समाज के लिए हम सदैव खड़े है और सँघर्षरत है।ब्राह्मण प्रदेश में बदलाव करने की ताकत रखते है।उन्होंने इस अवसर पर पं कमलापति त्रिपाठी जी को नमन करते हुए संपूर्णानंद विश्वविद्यालय की संरचना में  उनके योगदान को भी याद किया

कार्यक्रम का अध्यक्षता कर रहे प्रो.सुधाकर मिश्र ने कहा की ब्राह्मण जिन्होंने सदैव अपना जीवन देश, धर्म और समाज की उन्नति के लिए अर्पित किया।लेकिन इस समय की स्तिथि चिंताजनक है राजनैतिक पार्टी भाजपा सपा बसपा के लिए महज ब्राह्मण वोट बैंक के रूप में है।जब चाहा इस्तेमाल किया फिर छोड़ दिया।लेकिन ब्राह्मणो को जागने और एकजुट होने की आवश्यकता है।ब्राह्मणो को अपने कर्तव्य के प्रति चिंतिंत होने की आवश्यकता है जब ब्राह्मण एकजुट होकर अपने समाज के लिये चिंतित होगा मनन करेगा गहन चिंतन करेगा तब अपने हक अधिकार को समझेगा तभी बदलाव सुनिश्चित होगा।इसलिए सर्वप्रथम ब्राह्मणो को एकजुट होकर अपने कर्तव्य को समझने की आवश्यकता है।और इस परिवेश में वर्तमान स्तिथि अति दयनिय है यह सरकार में सबसे अधिक दमन ब्राह्मणो पर हुआ है।

कार्यक्रम में :- पूर्व विधायक अजय राय,प्रो.सुधाकर मिश्रा, डॉ अखिलेन्द्र त्रिपाठी,ओमप्रकाश ओझा,महानगर अध्यक्ष कांग्रेस राघवेंद्र चौबे,शैलेन्द्र किशोर पाण्डेय मधुकर,कर्नल रंजीत उपाध्याय,मनीष मोरोलिया,मनीष चौबे,साकेत शुक्ला,रंजीत उपाध्याय,कृष्णमोहन शुक्ला,अजित चौबे, शिवम चौबे, आशुतोष कुमार मिश्र,पंकज सिंह डब्लू,राहुल उपाध्याय,विनय मिश्र, रितेश पाण्डेय, अविनाश मणि त्रिपाठी,अभिषेक पाण्डेय, उमाकांत ओझा,रजनीकांत दुबे,शिवम भंडारी,अमित तिवारी,अंकुर उपाध्याय, रिशु तिवारी,शिवमणि उपाध्याय, करुणा तिवारी,शुभम तिवारी,वाचस्पति त्रिपाठी,अंकेश तिवारी,हिमांशु मिश्रा आदि बड़ी संख्या में छात्र प्रबुद्धजन,शिक्षक वरिष्टजन आदि लोग उपस्थिति रहे।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।