कुलपति प्रो हरेराम त्रिपाठी केन्द्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय,नईदिल्ली के कार्यकारी परिषद(एक्सक्युटिव कौंसिल) में नामित - Tahkikat News

आज का Tahkikat

Saturday, 21 August 2021

कुलपति प्रो हरेराम त्रिपाठी केन्द्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय,नईदिल्ली के कार्यकारी परिषद(एक्सक्युटिव कौंसिल) में नामित

कैलाश सिंह विकास वाराणसी


कुलपति प्रो हरेराम त्रिपाठी केन्द्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय,नईदिल्ली के कार्यकारी परिषद(एक्सक्युटिव कौंसिल) में नामित

वाराणसी। सम्पूर्णानन्द संस्कृत विश्वविद्यालय, वाराणसी के कुलपति प्रो हरेराम त्रिपाठी को शिक्षामंत्रालय भारत सरकार के संस्तुति पर विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के चेयरमैन प्रो डीपी सिंह के द्वारा केन्द्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय,नई दिल्ली की कार्यकारी परिषद में तीन साल की अवधि के लिये नामित किया गया है।
यूजीसी के अवर सचिव श्री तलरेजा के द्वारा जारी पत्र मे सूचना के आधार पर यहाँ के कुलपति प्रो हरेराम त्रिपाठी को केन्द्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय,नई दिल्ली में यूजीसी नामित/प्रतिनिधि के रूप में कार्यकारी परिषद मे सदस्य(executive council member)नामित किये गये हैं।
ज्ञातव्य हो कि कुलपति प्रो त्रिपाठी दिनांक 12 जून 2021 को इस विश्वविद्यालय के 35 वें कुलपति का कार्यभार ग्रहण कर अनवरत विश्वविद्यालय के चौमुखी विकास एवं संस्कृत के प्रचार-प्रसार में लगे हुये हैं।
कुलपति प्रो हरेराम त्रिपाठी के उत्कृष्ट कार्यों से भारत सरकार और उत्तर प्रदेश सरकार समय-समय पर विभिन्न तरह के सम्मान और पुरस्कार भी दी है।
इस सूचना पर  कुलपति त्रिपाठी ने संस्कृत के संवर्धन-पोषण के लिये बताया कि काशी मे स्थित यह विश्वविद्यालय 230 वर्षो से अनवरत देश-विदेश में संस्कृत शास्त्रों का पान कराते हुये भारतीय संस्कृति-संस्कार और संस्कृत के धार की धारा प्रवाहित कर रही है,यह परिसर देव स्थल सा है यहाँ पर अनेक ऋषि तुल्य आचार्यों ने सदैव तप कर संस्कृत विद्या और प्राच्य विद्या का संरक्षण किया है,आगे इसे बचाने और बढाने का संकल्प लेकर कार्य किया जा रहा है।
कुलपति प्रो हरेराम त्रिपाठी ने बताया कि यूजीसी द्वारा उक्त केन्द्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय में कार्यकारी परिषद में नामित होने से प्राच्य विद्या संस्कृत को  आगे बढाने और संरक्षण में सहयोग होता रहेगा।उक्त विश्वविद्यालय के देश मे 14 परिसर हैं।
कुलपति प्रो त्रिपाठी के नामित होने की सूचना पर विश्वविद्यालय में चारों तरफ हर्ष व्याप्त है जिसमें प्रो रामकिशोर त्रिपाठी,रामपूजन पान्डेय,प्रो हरिप्रसाद अधिकारी,प्रो सुधाकर मिश्र,प्रो रमेश प्रसाद,शैलेश कुमार,प्रो ब्रजभूषण ओझा,प्रो अमित शुक्ल,डॉ विजय पान्डेय,डॉ दिनेश गर्ग आदि ने प्रसन्नता व्यक्त किया है।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।