गिरफ्तारी ना होने से घर पर शव रखकर परिजनों ने पुलिस प्रशासन के खिलाफ जताया आक्रोश - Tahkikat News

आज का Tahkikat

Friday, 6 August 2021

गिरफ्तारी ना होने से घर पर शव रखकर परिजनों ने पुलिस प्रशासन के खिलाफ जताया आक्रोश

राजित राम यादव बस्ती

गिरफ्तारी ना होने से घर पर शव रखकर परिजनों ने पुलिस प्रशासन के खिलाफ जताया आक्रोश


बस्ती थाना पैकोलिया के अंतर्गत रेवटा हरिसरन शुक्ल गांव में उस वक्त मातम छा गया, जब पता चला परिजनों को इलाज के दौरान हमारे बेटे की मौत हो गई, रेवटा हरिसरन शुक्ल गांव के कोटेदार के घर में घुसकर दबंगों ने लाठी डंडा हाकी से कोटेदार के लड़के को जमकर मारा पीटा था बीच-बचाव करने आया राशन कार्ड धारक को जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल करते हुए उसको भी मारे - पीटे मारपीट के दौरान उसके सर  में गंभीर चोटे आई थी बस्ती जिला अस्पताल में एडमिट कराया गया था लेकिन जिला अस्पताल के डॉक्टरों ने हालत को गंभीर देखते हुए लखनऊ मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया था कल इलाज के दौरान पवन कुमार की मृत्यु हो गई, मृत्यु की खबर सुनते ही पूरे गांव में सनसनी फैल गई  पुलिस को सूचना मिलते ही गांँव  में तब्दील हो गये, जानकारी होते ही आजाद समाज पार्टी के जिला अध्यक्ष आकाश आर्य अपने कार्यकर्ताओं के साथ सुबह 8:00 बजे पहुंच गए वही भीम आर्मी के पूर्वांचल प्रभारी कमलेश सचान मंडल अध्यक्ष बृजेश यादव महिला युवा बिंदकी जिला अध्यक्ष निशा बौद्ध सहित सैकड़ों कार्यकर्ता मृतक के घर पहुंचे  परिजनों के दुख: के वक्त खड़ा रहे मंडल अध्यक्ष बृजेश यादव ने कहा  सीओ हर्रैया को तत्काल हटाया जाए पुलिस के कार्य प्रणाली पर मुझे बिल्कुल भरोसा नहीं है आजाद समाज पार्टी भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं ने, मृतक के परिजनों के लिए मृतक की पत्नी को नौकरी और मां बाप के जीवन यापन के लिए 50 लाख रुपए और 24 घंटे के अन्दर गिरफ्तारी मुकदमे में धारा बढ़ाने की मांग किये जिस पर एडिशनल एसपी उप जिलाधिकारी हर्रैया सीओ हर्रैया के साथ-साथ प्रशासन के काफी मान मनोवल के बाद शव का दाह संस्कार के लिए राजी हुए पूरे गांव में पुलिस फोर्स लगी हुई है अतिरिक्त पीएससी बल को भी तैनात कर दिया गया है सुरक्षा के दृष्टिकोण से शांति व्यवस्था की कोई कमी ना रहे, एडिशनल एसपी दीपेंद्र नाथ चौधरी ने कहाअभियुक्तों की गिरफ्तारी जल्द से जल्द की जाएगी एवं आर्थिक सहायता का भी आश्वासन दिया

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।