कोविड़ गाइड लाइन तहत खुले स्कूल ,स्कूलों में नहीं दिखी छात्रों की भीड़ - Tahkikat News

आज का Tahkikat

Wednesday, 25 August 2021

कोविड़ गाइड लाइन तहत खुले स्कूल ,स्कूलों में नहीं दिखी छात्रों की भीड़

रिपोर्ट:अरविन्द शर्मा

कोविड़ गाइड लाइन तहत खुले स्कूल ,स्कूलों में नहीं दिखी छात्रों की भीड़

 कानपुर देहात। कोविड़ गाइड लाइन तहत खुले स्कूल........ स्कूलों में नहीं दिखी छात्रों की भीड़... न के बराबर पहुचे स्कूल में छात्र-छात्राएं......शासन के निर्देश पर 6 से 8 कक्षा तक के स्कूल खुले....... 60 प्रतिशत संख्या के साथ पहुंचे छात्र

 यूपी में आज से कोविड़ महामारी के बीच जूनियर के स्कूल भी खुल गए हैं........ योगी सरकार ने 60 प्रतिशत संख्या की उपस्थिति की अनुमति के साथ आज से कक्षा 6 से लेकर 8 तक के स्कूलों को खोलने के निर्देश दिए है........ जिसके बाद आज फिर से स्कूलों में रौनक दिखने लगी है....... साथ ही फिर से स्कूलों की घण्टी की आवाज सुनाई देने लगी है....... वहीं कॉलेज प्रबंधन को कोविड़ गाइड के अनुसार कक्षाएं संचालन की अनुमति दी गई है....... जिसके बाद आज से शुरू हुए कॉलेजों में 6 से 8 तक की कक्षाएं शुरू हो गई है...... वहीं आज पहले दिन स्कूलों में छात्र-छात्राओं की संख्या कम देखने को मिली...... कुछ ऐसा ही नजारा जनपद कानपुर देहात में देखने को मिला...... जहाँ कोविड़ महामारी के चलते बंद स्कूल लंबे समय के बाद आज से खुल गए........ कोविड़ महामारी के चलते योगी सरकार ने स्कूलों को बंद कर दिए थे...... लेकिन कोविड़ के कम होते प्रकोप के बाद कक्षा 9 से 12 तक के स्कूल 16 अगस्त को सरकार ने खोलने के निर्देश दिए दिए थे और आज फिर से आज से कक्षा 6 से 8 तक के स्कूल खुलने के निर्देश दिए है....... जिसके बाद आज से कानपुर देहात के कक्षा 6 से 8 तक के कॉलेज खुल तो गए........ लेकिन छात्र-छात्राओं की संख्या न के बराबर देखने को मिली...... स्कूलों में छात्र-छात्राएं मास्क और सेनिटाइजर के साथ पहुँचे और उनको कक्षाओं में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ बैठाला गया......... वहीं अभिभावकों के सहमति पत्र मिलने के बाद छात्रों को स्कूल में प्रवेश की अनुमति मिल रही है....... स्कूल खुलने के बाद स्कूल प्रबंधन से लेकर छात्र-छात्राओं में खासा उत्साह देखने को मिला........


No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।