वाराणसी शहर के चिन्हित जर्जर भवनों के ध्वस्तीकरण कार्य को एक सप्ताह के अंदर कराए जाने का दिया निर्देश - Tahkikat News

आज का Tahkikat

Thursday, 5 August 2021

वाराणसी शहर के चिन्हित जर्जर भवनों के ध्वस्तीकरण कार्य को एक सप्ताह के अंदर कराए जाने का दिया निर्देश

कैलाश सिंह विकास वाराणसी

वाराणसी शहर के चिन्हित जर्जर भवनों के ध्वस्तीकरण कार्य को एक सप्ताह के अंदर कराए जाने का दिया निर्देश

         वाराणसी। जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने नगर आयुक्त को पत्र लिखकर कहां है कि वाराणसी महानगर में काफी संख्या में जर्जर भवनों का सर्वे नगर निगम द्वारा कराया गया है। उक्त जर्जर भवनों के भवन स्वामियों को ध्वस्तीकरण कराने हेतु पूर्व में नोटिस जारी किया गया है, परन्तु अभी तक इस दिशा में कोई कार्यवाही नहीं होने के कारण वर्तमान में मौसम के दृष्टिगत इन भवन में रहने वाले सदस्य एवं आस-पास के घर सुरक्षित नहीं हैं। ऐसी दशा में यह आवश्यक है कि सम्बन्धित भवन स्वामियों द्वारा अपने-अपने जर्जर भवन के ध्वस्तीकरण का कार्य स्वयं के खर्च पर एक सप्ताह में पूर्ण कराया जाए। यदि सम्बन्धित भवन स्वामी द्वारा अपने जर्जर मकान के ध्वस्तीकरण का कार्य नहीं किया जाता है तो नगर निगम द्वारा इस कार्य को नगर निगम के संसाधनों से कराकर जर्जर भवनों पर हुए खर्च की वसूली सम्बन्धित भवन स्वामी से कराया जाए। इसके साथ ही अभी तक सर्वे में पाये गये जर्जर भवनों को नोटिस नहीं निर्गत किया गया है, उसे दो दिन के अन्दर नोटिस निर्गत करते हुए ध्वस्तीकरण की कार्यवाही पूर्ण कराई जाए।
        जिलाधिकारी ने निर्देशित किया है कि उपरोक्तानुसार वाराणसी शहर के जर्जर भवनों के ध्वस्तीकरण की कार्यवाही एक सप्ताह में पूर्ण कराना सुनिश्चित करायें तथा आगामी दो दिन के भीतर यह अवगत करायें कि जोनवार ऐसे कितने भवनों को तकनीकी नोटिस देने का कार्य पूर्ण हो चुका और कितना लम्बित है। ताकि भवष्यि में जन हानि से बचा जा सके।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।