पति ने ही नशे में की थी पत्नी की गला दबाकर हत्या: पुलिस ने किया खुलासा - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News

आज का Tahkikat

Tuesday, 14 September 2021

पति ने ही नशे में की थी पत्नी की गला दबाकर हत्या: पुलिस ने किया खुलासा

पुनीत मिश्रा फर्रूखाबाद


पति ने ही नशे में की थी पत्नी की गला दबाकर हत्या: पुलिस ने किया खुलासा


 फर्रुखाबाद।  मेरापुर थाना पुलिस ने वृद्धा महादेवी उर्फ मोमा हत्याकांड का खुलासा कर उसके पति बालजीत राजपूत को गिरफ्तार कर लिया है। घटना के बाद आशंका जाहिर की गई थी की मोमा की पति अथवा पुत्र ने ही हत्या की है पुलिस ने बालजीत एवं उसके पुत्र हरीराम व मानिकचंद को हिरासत में ले लिया था। बीती शाम पुलिस ने बालजीत से सख्ती से पूछताछ की तो उसने पत्नी की हत्या का इकबाल कर लिया

बालजीत ने बताया कि मैं घटना वाली शाम पाइप खरीद कर रात 8 बजे खेत की झोपड़ी पहुंचा था। मुझे भूख लग रही थी लेकिन पत्नी ने खाना नहीं बनाया था मैने गांजे की चिलम पी और सो गया। रात करीब 9 बजे नींद खुलने पर पत्नी से खाना के बारे में पूछा तो वह चिलम पीने के कारण लड़ने लगी। गुस्से के कारण मैंने उसकी डंडे से पिटाई की।

सिर में डंडा लग जाने के कारण पत्नी बेहोश हो गई लेकिन वह बेहोशी की हालत में भी चिल्लाती रही जिसके कारण हमने मुंह बंद कर उसका गला दबाया। मर जाने पर पत्नी को खेत के पास नीम के पेड़ से टिका आया था। पुलिस ने हत्याकांड का खुलासा हो जाने पर मानिकचंद व हरीराम को रात 8 बजे ही छोड़ दिया।
मालूम हो कि थाना मेरापुर के ग्राम पुनपालपुर निवासी बालजीत राजपूत 9 सितंबर की रात गांव से करीब 600 मीटर दूर खेत के नलकूप की झोपड़ी में 56 वर्षीय पत्नी महादेवी उर्फ मोमा के साथ अलग अलग चारपाई पर लेटे थे।

बड़े बेटे हरीराम ने पुलिस को बताया कि मैं सुबह 6 बजे खेत में मक्का काटने आया था मैंने पिता से मां के बारे में पूछा तो उन्होंने बताया कि यहीं कहीं होंगी। हरीराम ने बताया कि मैं मक्का काटकर वापस झोपड़ी की ओर जा रहा था तभी रास्ते में नीम के पेड़ के सहारे मां को बैठे देखा। नजदीक जाने पर मां को आवाज दी जवाब न मिलने पर उन्हें हिलाया तो मर चुकी थी मां की नाक व सिर से खून निकला था।

मां के शव को उठा कर झोपड़ी में ले गए सीओ एवं थानाध्यक्ष ने मौके पर जाकर जांच पड़ताल की। हत्यारे का सुराग लगाने के लिए फॉरेंसिक टीम ने साक्ष्य के एकत्र किये खोजी कुत्ते को भी लगाया गया। खोजी कुत्ता झोपड़ी से करीब 50 मीटर दूर नीम के पेड़ से झोपड़ी तक गया और वहां से झोपड़ी के पीछे चारे के खेत में गया। खेत में देसी शराब का खाली पुराना पौवा व दो खाली गिलास पड़े थे।

बालजीत ने पुलिस को बताया था कि रात करीब 3 बजे मुझे सर्दी लगी थी तभी पत्नी ने मुझे कंबल उड़ाया था। सुबह उठने पर पत्नी को नही देखा, ग्रामीणों के अलावा पुलिस की बालजीत व बेटे हरीराम की ओर शक की सुई घूम गई थी

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।