बाबा लाट भैरव को लगा खिचड़ी का भोग, भक्तों में वृहद प्रसाद वितरण - Tahkikat News

आज का Tahkikat

Wednesday, 22 September 2021

बाबा लाट भैरव को लगा खिचड़ी का भोग, भक्तों में वृहद प्रसाद वितरण

कैलाश सिंह विकास वाराणसी

बाबा लाट भैरव को लगा खिचड़ी का भोग, भक्तों में वृहद प्रसाद वितरण

अष्ट भैरव संग बाबा लाट ने खाई खिचड़ी

वाराणसी। बाबा श्री कपाल भैरव (लाट भैरव) जी के विवाहोपरांत मंगलवार को खिचड़ी भोग का आयोजन किया गया।
।सर्वप्रथम बाबा श्री लाट भैरव के विशालकाय लिंग रूप प्रतिमा को स्नान कराकर नवीन वस्त्र, रजत मुंडमाला, गेंदा, गुलाब, दौना, आदि पुष्पों की माला से सुसज्जित किया गया।तदुपरांत अष्ट भैरव सहित जगत जननी माता काली का विधिवत श्रृंगार किया गया।गर्भगृह में बने भव्य पंडाल में रजत मुखौटा धारण किये, मस्तक पर भस्म लगाएं, लाल वस्त्र में बाबा श्री की अद्भुत छवि का दर्शन हर कोई अलौकिक आंनद की अनुभूति कर आध्यात्मिक शक्ति को आत्मसात कर रहा था।अष्ट भैरवों में बाबा असितांग भैरव, रुरु भैरव, चण्ड भैरव, क्रोधन भैरव, उन्मत्त भैरव, कपाल भैरव, संहार भैरव, भीषण भैरव रहे।परम्परानुसार कज्जाकपुरा स्थित मंदिर प्रांगण में लाट भैरव जी के साथ अष्ट भैरवों को खिचड़ी, पूड़ी, सब्जी, खीर आदि व्यंजनों का भोग अर्पित किया गया।कोविड के कारण भंडारे का आयोजन स्थगित करते हुए भक्तों में प्रसाद के पैकेट का वितरण किया गया।विदित हो कि सामान्य दिनों में भंडारे के आयोजन में कई हज़ार भक्त प्रसाद ग्रहण करतें रहे।शाम से लेकर मध्य रात्रि तक बाबा के दर्शन और प्रसाद के लिए भक्तों की कतार लगी रहतीं थीं।लेकिन इस वर्ष नज़ारा कुछ अलग दिखा।मंदिर परिसर में श्रद्धालुओं द्वारा देर रात्रि तक दर्शन पूजन का क्रम चलता रहा।ततपश्चात पूजारी चंदन पांडेय ने अष्ट भैरव की आठ विधियों से आरती की।सभी ने सस्वर भैरवाष्टकं का पाठ किया।अध्यक्ष हरिहर पांडेय ने कहा कि समस्त कार्यक्रम सकुशल, सानंद संपन्न करवाने में सहयोग हेतु सभी सनातनी धर्मावलंबियों सहित जिला प्रशासन के अतुलनीय सहयोग के लिए मैं हृदय से कृतज्ञता व्यक्त करता हूँ।इसी के साथ तीन दिवसीय कार्यक्रम को सम्पन्न करवाये जाने के उपरांत विराम दिया गया।कार्यक्रम में मुख्य रूप से अध्यक्ष हरिहर पांडेय, उपाध्यक्ष बसंत सिंह राठौर, प्रधानमंत्री छोटेलाल जायसवाल, मंत्री मुन्ना लाल यादव, विक्रम सिंह राठौर, शिवम अग्रहरि, बच्चे लाल, अजय सिंह, कर्णशंकर पांडेय, राजकुमार, झन्ना लाल आदि रहे।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।