मौखिक रूप से की गयी शिकायत के आधार पर भी थानों में एफआईआर:कृष्ण प्रताप सिंह - Tahkikat News

आज का Tahkikat

Friday, 3 September 2021

मौखिक रूप से की गयी शिकायत के आधार पर भी थानों में एफआईआर:कृष्ण प्रताप सिंह

राकेश सिंह गोंडा 

मौखिक रूप से की गयी शिकायत के आधार पर भी थानों में एफआईआर:कृष्ण प्रताप सिंह


गोंडा । मौखिक रूप से की गयी शिकायत के आधार पर भी थानों में एफआईआर पीड़ित का बयान रिकॉर्ड करके किया जाना चाहिए।कानून की मंशा यह नहीं है कि केवल तहरीर के आधार पर ही प्रथम् सूचना रिपोर्ट दर्ज हो।यह बातें तहसील विधिक सेवा समिति मनका पुर द्वारा आयोजित विधिक साक्षरता शिविर को आयोजित करते हुए सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण कृष्ण प्रताप सिंह ने लोगों को जानकारी देते हुए कही।कार्यक्रम का संचालन तहसीलदार नरसिंह नरायन वर्मा व बार एशोशिएन के मंत्री केदार नाथ मिश्र ने किया।
विधिक साक्षरता शिविर में लोगों को आगामी 11 तारीख को राष्ट्रीय लोक अदालत के माध्यम से जल्द सुलभ एवं सस्ता न्याय दिलाने के लिए विधिक सेवा प्राधिकरण में प्रतिभाग करने के लिए प्रेरित किया।प्राधिकरण के सचिव के पी सिंह ने बताया कि राष्ट्रीय लोक अदालत के नोडल आफिसर अपर जिला जज डाक्टर दीनानाथ व अध्यक्ष जनपद न्यायाधीश मयंक कुमार जैन की अध्यक्षता में पक्षों को मध्य आपसी सुलह समझौते के आधार पर विवाद का निस्तारण किया जाता है लोक अदालत के द्वारा पारित निर्णय के विरुद्ध कोई अपील नहीं होती है।इसलिए  बैंक रिकवरी वाद,किरायेदारी वाद वन अधिनियम प्रकरण रेलवे दावा,मनरेगा,बिजली चोरी,चेक बाउंस सहित दर्जनों मामलों का निस्तारण लोक अदालत में किया जाता है।लीगल सर्विस मोबाईल एप डाउनलोड करके विधिक जानकारी देने की सलाह दिए।इसी क्रम में महाधिवक्ता संघ अध्यक्ष सीके पाठक,अधिवक्ता संघ अध्यक्ष पाठक,एल्डर कमेटी के अध्यक्ष परमेश्वर पान्डे ने अपने अपने विचारों व विधिक जानकारी लोगों को देकर राष्ट्रीय लोक अदालत के लाभों के बारें में  बताया।इस मौके पर तमाम गाँव से आये लोग व अधिवक्तागण,तहसीलदार नर सिंह नरायन वर्मा,पेशकार राजेश पान्डे सहित तमाम लोग मौजूद रहे।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।