भाजपा की केंद्र और राज्य सरकार की जनविरोधी नीतियों से जनता त्रस्त है - डॉ अशोक सिंह कुशवाहा - Tahkikat News

आज का Tahkikat

Friday, 3 September 2021

भाजपा की केंद्र और राज्य सरकार की जनविरोधी नीतियों से जनता त्रस्त है - डॉ अशोक सिंह कुशवाहा

कृपा शंकर चौधरी

भाजपा की केंद्र और राज्य सरकार की जनविरोधी नीतियों से जनता त्रस्त है - डॉ अशोक सिंह कुशवाहा 

गोरखपुर। समाजवादी पार्टी पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ अशोक सिंह कुशवाहा ने पार्टी के बेतियाहाता स्थित कार्यालय पर कार्यकर्ताओं के साथ हुई बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि भाजपा की केंद्र और राज्य सरकार की जनविरोधी नीतियों से जनता त्रस्त है भाजपा सरकार में पिछड़ों दलितों वंचितों महिलाओं किसानों मजदूरों का जीवन दूभर हो गया है सपा सरकार बनने पर भाजपा सरकार द्वारा किसानों पर थोपे गए काले कानून से किसानों को मुक्त कराया जायेगा आर्थिक रूप से कमजोर लोगों के लिए 300 यूनिट तक बिजली मुफ्त होगी शिक्षा स्वास्थ्य व आर्थिक स्थिति को और जो विकास योजनाएं ठप हैं उन्हें फिर से शुरू कराया जाएगा भाजपा जातियों को बांटना चाहती है भाजपा सरकार में शुरू हुई नफरत की राजनीति को समाप्त कर सौहार्दपूर्ण वातावरण बनाएंगे जिससे आम आदमी सर्व समाज का विकास हो और सभी लोग मुख्यधारा से जुड़ सकें इस दौरान प्रमुख रूप से अखिलेश यादव अवधेश यादव दूध नाथ मौर्य जय प्रकाश यादव मुन्नी लाल यादव संजय पहलवान दयाशंकर निषाद मुरारी लाल मौर्या अजय यादव मैना भाई श्यामदेव निषाद संजय सिंह सैंथवार राम प्रीत मौर्या राम अजोर मौर्या राहुल यादव बिन्दा सैनी सोहराब खान कमल किशोर यादव सुरेंद्र मौर्या स्वतंत्र देव यादव शिव शंकर गौड़ रामाज्ञा मौर्या सुरेंद्र निषाद महेंद्र यादव विक्की निषाद शब्बीर कुरैसी दुइजा देवी नीलम पांडे बेबी मौर्या अनारकली मौर्या हरिनाथ मौर्या पप्पू यादव राम नगीना यादव आदि मौजूद रहे

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।