दीनदयाल जी के जीवन से, हमें कभी हार ना मानने की भी सीख मिलती है - पीएम मोदी - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News

आज का Tahkikat

Sunday, 26 September 2021

दीनदयाल जी के जीवन से, हमें कभी हार ना मानने की भी सीख मिलती है - पीएम मोदी

कैलाश सिंह विकास वाराणसी


दीनदयाल जी के जीवन से, हमें कभी हार ना मानने की भी सीख मिलती है - पीएम मोदी

मन की बात की 81वा संस्करण महानगर पदाधिकारियों ने सुनी

वाराणसी 26 सितंबर। भारतीय जनता पार्टी महानगर के कार्यकर्ताओं ने महानगर अध्यक्ष विद्यासागर राय की अध्यक्षता और नीरज जायसवाल के संयोजन में चौकाघाट राजकीय आयुर्वेद चिकित्सालय के सभागार में काशी के सांसद व भारत के प्रधानमंत्री माननीय नरेंद्र मोदी जी के लोकप्रिय कार्यक्रम मन की बात की 81वा संस्करण सुनी। 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज एक बार फिर अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम मन की बात के जरिए राष्‍ट्र को संबोधित करते हुए, नदियों को बचाने पर जोर दिया।
उन्‍होंने कहा मैं देशवाशियों से आग्रह करूंगा कि भारत में, कोने-कोने में साल में एक बार तो नदी उत्सव मनाना ही चाहिए।
पीएम मोदी ने कहा दीनदयाल  के जीवन से हमें कभी हार न मानने की भी सीख मिलती है। विपरीत राजनीतिक और वैचारिक परिस्थितियों के बावजूद भारत के विकास के लिए स्वदेशी मॉडल के विजन से वे कभी डिगे नहीं। आज बहुत सारे युवा बने-बनाए रास्तों से अलग होकर आगे बढ़ना चाहते हैं। वे चीजों को अपनी तरह से करना चाहते हैं। दीनदयाल जी के जीवन से उन्हें काफी मदद मिल सकती है। इसलिए युवाओं से मेरा आग्रह है कि वे उनके बारे में जरूर जानें।
 इसके साथ ही पीएम मोदी ने कहा वैक्‍सीनेशन में देश ने कई ऐसे रिकॉर्ड बनाए हैं, जिसकी चर्चा पूरी दुनिया में हो रही है। इस लड़ाई में हर भारतवासी की अहम भूमिका है। हमें अपनी बारी आने पर वैक्‍सीन तो लगवानी ही है, पर इस बात का भी ध्यान रखना है कि कोई इस सुरक्षा चक्र से छूट ना जाए। 
पीएम मोदी ने कहा कि आज हम लोगों की जिंदगी का हाल यह है कि 1 दिन में सैकड़ों बार कोरोना शब्द हमारे कान पर गूंजता है। 100 साल में आई सबसे बड़ी वैश्विक महामारी कोविड-19 ने हर देशवासी को बहुत कुछ सिखाया है। हेल्थ केयर और वैलनेस को लेकर आज जिज्ञासा भी बढ़ी है और जागरूकता भी। हमारे देश में पारंपरिक रूप से ऐसे नेचुरल प्रोडक्ट्स प्रचुर मात्रा में उपलब्ध है जो सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है।
 पीएम मोदी ने कहा बच्चों में जागरूकता बढ़ाने के लिए आयुष मंत्रालय ने एक दिलचस्प पहल की है और इसका बीड़ा उठाया है। हमारे प्रोफेसर आयुष्मान जी ने यह आयुष्मान कॉमिक बुक का नाम है इसमें अलग-अलग कार्टून किरदारों के जरिए छोटी-छोटी कहानियां तैयार की गई है साथ ही एलोवेरा, तुलसी, आंवला, गिलोय, नीम, अश्वगंधा और ब्राम्ही जैसे सेहतमंद मेडिकल प्लांट की उपयोगिता बताई गई है।
कार्यक्रम के दौरान राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रविंद्र जायसवाल, महापौर मृदुला जायसवाल, साधना वेदांती, अभिषेक मिश्रा, महानगर मीडिया प्रभारी किशोर कुमार सेठ, रजत जायसवाल, रौनी वर्मा,मधुप सिंह, डॉ रचना अग्रवाल, कुशाग्र श्रीवास्तव, रितिक पांडे सहित युवा मोर्चा के दर्जनों कार्यकर्ता शामिल रहे। 

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।