अपडेट- शिवांगी हत्याकांड में की गई थी गला दबाकर हत्याः दुष्कर्म की आशंका में बनाई गई स्लाइड - Tahkikat News

आज का Tahkikat

Sunday, 19 September 2021

अपडेट- शिवांगी हत्याकांड में की गई थी गला दबाकर हत्याः दुष्कर्म की आशंका में बनाई गई स्लाइड

रिपोर्ट:-पुनीत मिश्रा फर्रूखाबाद

 शिवांगी हत्याकांड में की गई थी गला दबाकर हत्याः दुष्कर्म की आशंका में बनाई गई स्लाइड



 फर्रुखाबाद। बीते दिनों युवती शिवांगी अग्निहोत्री की गला दबाकर हत्या की गई थी थाना जहानगंज पुलिस ने शिवांगी के शव का पोस्टमार्टम करवाया था।

वीडियोग्राफी के दौरान डॉ सुमित अग्निहोत्री एवं डॉ प्रभात वर्मा के पैनल ने शिवांगी के शव का पोस्टमार्टम किया। पीएम में शिवांगी की गला दबाकर हत्या किए जाने की पुष्टि हुई है शिवांगी के शरीर पर आधा दर्जन चोटों के निशान मिले हैं दुष्कर्म किए जाने की आशंका में शिवांगी की स्लाइड भी बनाई गई है

मालूम हो कि शिवांगी थाना नवाबगंज के ग्राम गुसरापुर निवासी अरुण कुमार अग्निहोत्री की 20 वर्षीय पुत्री थी। बीते दिन उसका लहूलुहान शव थाना जहानगंज क्षेत्र में सड़क के किनारे खाई में पड़ा मिला था। अरुण कुमार की शिकायत पर बीती शाम थाना नवाबगंज पुलिस ने शिवांगी के अपहरण की रिपोर्ट दर्ज की है। उसके बाद अरुण कुमार ने मृत शिवांगी की फोटो देखकर बेटी की शिनाख्त की थी। शिवांगी का ग्राम पंचायत सहायक पद पर चयन हुआ है शिवांगी ने 2 वर्ष पूर्व ही कंप्यूटर का कोर्स किया था।

पंचायत सहायक पद पर कार्य करने के लिए शिवांगी ने नगर फर्रुखाबाद के मोहल्ला जोगराज स्थित एशियन कंप्यूटर पर ट्रेनिंग लेना शुरू कर दिया था। कंप्यूटर इंस्टिट्यूट के निदेशक सुरेंद्र पांडे ने बताया की शिवांगी करीब एक हफ्ता से सेंटर पर नहीं आई थी। परसों रात पिता ने कार्यालय फोन कर शिवांगी के बारे में जानकारी की थी केंद्र की प्रबंधक आकांक्षा सक्सेना ने शिवांगी के पिता को न आने की जानकारी दे दी थी।

कंप्यूटर सेंटर निदेशक ने बताया कि आकांक्षा सक्सेना के हवाले से बताया कि शिवांगी होनहार एवं मिलनसार युवती थी उसकी हत्या की जानकारी मिलने पर काफी सदमा लगा है। हत्या के बाद शिवांगी के मोबाइल फोन को सर्विलांस के जरिए खंगाला गया। शिवांगी का मोबाइल फोन परसो शाम 4.30 बजे से बंद है उसकी अंतिम लोकेशन फर्रुखाबाद रेलवे स्टेशन के निकट ग्राम नगला खैरबंद का मिला है।

थाना जहानगंज के उप निरीक्षक राजेश कुमार चौबे ने शिवांगी के शव का पंचनामा भरा था।जाहिरा तौर पर शिवांगी के ओठ व नाक पर चोट के निशान देखे गए। शिवांगी के शरीर पर खरोचों के निशान थे जिसे अनुमान लगाया गया कि शिवांगी के साथ हत्यारों ने जबरदस्ती की थी शिव़ांगी ने वचाव किया होगा तभी उसके शरीर पर खरोच के अलावा चोटों के निशान लगे।

शिवांगी घरवालों से भी झूठ बोलती रही वह अक्सर सुबह 9 बजे घर सेंटर जाने को कह कर जाती थी परसों वारिश होने के कारण शिवांगी करीब 7.30 बजे ही घर से चली गई। उसके बाद शिवांगी कंप्यूटर सेंटर नहीं पहुंची बल्कि कहीं किसी के साथ रही जिन्होंने ही शिवांगी के साथ दगाबाजी की है।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।