गंगा एक्सप्रेस-वे के सवाल पर बिफर गए सांसद जी, बोले यह कोई मुद्दा नहीं - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News

आज का Tahkikat

Wednesday, 22 September 2021

गंगा एक्सप्रेस-वे के सवाल पर बिफर गए सांसद जी, बोले यह कोई मुद्दा नहीं

रिपोर्ट-- पुनीत मिश्रा फर्रुखाबाद

गंगा एक्सप्रेस-वे के सवाल पर बिफर गए सांसद जी, बोले यह कोई मुद्दा नहीं


फर्रुखाबाद। गंगा एक्सप्रेस वे का मुद्दा भाजपा नेताओं के लिए हउआ हो गया है। सोमवार को सदर विधायक मेजर सुनीलदत्त द्विवेदी इससे बचते दिखे तो मंगलवार को सांसद जी गंगा एक्सप्रेस वे के सवाल पर अपना आपा खो बैठे। बोले, गंगा एक्सप्रेस वे कोई मुद्दा नहीं। उन्होंने चुनौती दे डाली कि इस मुद्दे पर सवाल पूछने वाले स्वयं चुनाव लड़ लें।
जैसे-जैसे चुनाव नजदीक आ रहा है गंगा एक्सप्रेस वे का मुद्दा हवा पकड़ता जा रहा है। चारों तरफ से गंगा एक्सप्रेस-वे फर्रुखाबाद से निकाले जाने की मांग उठ रही है। इस पर भाजपा के जनप्रतिनिधियों द्वारा अपनी नाकामी छुपाने के लिए अलग-अलग राय रखी। वहीं सांसद मुकेश राजपूत खिसयाते दिखायी दिये और वार्ता के दौरान सारा गुस्सा पत्रकारों पर उतारते हुए बोले कि गंगा एक्सप्रेस-वे कोई मुद्दा नहीं है और जिस किसी को इस मुद्दे पर बात करनी है वह चुनाव लड़ ले। गंगा एक्सप्रेस-वे व जिलों की सड़कों के बारे में मुझसे से ज्यादा कोई नहीं जानता, बात चाहे कोई करें। उन्होंने अपने आवास पर दिव्यांग शिविर लगाये जाने के संदर्भ में वार्ता बुलाई थी। जब गंगा एक्सप्रेस-वे के संदर्भ में पूछा गया तो वह बौखला गये और बोले कि सवाल मत पूछो चुनाव लड़ लो। मैं गंगा एक्सप्रेस-वे की परियोजना के बारे में शुरू से ही लगकर पूरी जानकारी और एक-एक बात-बात मालूम है। बाढग़्रस्त क्षेत्र होने के चलते यहां से नहीं निकाला जा रहा है। इस दौरान उन्होंने ऐसी बहुत सी बातें कहीं, जो लिखी नहीं जा सकती। इस दौरान जब अपना गुस्सा कन्ट्रोल नहीं कर पाये तो उन्होंने अपने प्रतिनिधि पर उतारते हुए चुप रहने की हिदायत दी और बोले कि गंगा एक्सप्रेस-वे पर कोई बात नहीं करेंगा, यह कोई मुद्दा नहीं है।
गंगा एक्सप्रेस-वे को लेकर पूर्व बसपा सरकार में भी सर्वे के दौरान यही टेक्निकल समस्या आयी थी। जिसके चलते मामला इतना दिनों तक ठंडे बस्ते में पड़ा रहा। उन्होंने यहां तक कि पत्रकारों से कह दिया कि सड़कों एवं गंगा एक्सप्रेस-वे के बारे में जनपद में हमसे ज्यादा कोई नहीं जानता है

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।