समाजवादियों का अन्याय के खिलाफ लड़ने का इतिहास रहा है - नरेश उत्तम पटेल - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News

आज का Tahkikat

Thursday, 9 September 2021

समाजवादियों का अन्याय के खिलाफ लड़ने का इतिहास रहा है - नरेश उत्तम पटेल

लखनऊ ब्यूरो

समाजवादियों का अन्याय के खिलाफ लड़ने का इतिहास रहा है - नरेश उत्तम पटेल

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल के नेतृत्व में किसान-नौजवान-पटेल यात्रा का आज सिद्धार्थनगर में जगह जगह स्वागत एवं अभिनंदन कार्यक्रम हुआ।
     यात्रा के दौरान सभा को सम्बोधित करते हुए  नरेश उत्तम पटेल ने कहा कि समाजवादियों का अन्याय के खिलाफ लड़ने का इतिहास रहा है। भाजपा की मौजूदा सरकार की किसान और नौजवान विरोधी नीतियों से जनता त्रस्त है। भाजपा सरकार का चरित्र लोकतंत्र विरोधी है। महंगाई, लूट, भ्रष्टाचार, उत्पीड़न से आम आदमी हताश है।
     उत्तर प्रदेश में खुशहाली और तरक्की का रास्ता  अखिलेश यादव के नेतृत्व में समाजवादी सरकार बनने पर ही मजबूत हो सकता है। 2022 में किसान उत्तर प्रदेश में बदलाव लाएगा। काले कृषि क़ानून से अन्नदाता आत्महत्या करने को मजबूर है। समाजवादी पार्टी ही किसानों के लिए प्रतिबद्ध है। श्री अखिलेश यादव के नेतृत्व में ही खेत खलिहान की समृद्धि और किसानों का भविष्य सुरक्षित है।
     समाजवादी अध्ययन केंद्र सिद्धार्थनगर द्वारा प्रदेश अध्यक्ष  नरेश उत्तम पटेल को सरदार पटेल की प्रतिमा और अंगवस्त्र एवं  राम प्रसाद चौधरी, अखिलेश कटियार, संतोष यादव ‘सनी‘ को गौतम बुद्ध की प्रतिमा एवं अंगवस्त्र भेंट किया गया।
     इस अवसर पर  पूर्व स्पीकर माता प्रसाद पांडेय, पूर्व सांसद आलोक तिवारी, जिलाध्यक्ष लालजी यादव, मुरलीधर मिश्रा, चिन्कू यादव, मणेन्द्र मिश्रा, विजय पासवान, उग्रसेन सिंह, राम नरेश उपाध्याय, जमील सिद्दीकी, कमरुज्जमा, जुबैदा चौधरी, इंद्रासना त्रिपाठी, मोनू दूबे, अम्बिकेश श्रीवास्तव, मो0 जावेद, चमन आरा राईनी, कमाल खान, शुभांगी, अनीता, शकील शाह, जय प्रकाश यादव, राकेश दूबे, अजय चौरसिया, अनूप यादव, चंद्रमणि यादव, जोखन चौधरी, घनश्याम जायसवाल सहित अन्य प्रमुख लोग उपस्थित रहे।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।