Education -केंद्रीय विश्वविद्यालयों में भरे जाएंगे 6000 रिक्त पद - Tahkikat News

आज का Tahkikat

Saturday, 4 September 2021

Education -केंद्रीय विश्वविद्यालयों में भरे जाएंगे 6000 रिक्त पद

 


केंद्रीय शिक्षा, कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने शुक्रवार, 03 सितंबर, 2021 को दो अहम बैठकों के दौरान केंद्रीय विश्वविद्यालयों के कुलपतियों से संवाद किया और देश की सभी 23 आईआईटी के निदेशकों से बातचीत की। उन्होंने इस दौरान आजादी के अमृत महोत्सव के निमित्त शिक्षा मंत्रालय के अधीन होने वाले कार्यक्रमों की समीक्षा भी की। 

शिक्षा मंत्रालय ने आधिकारिक तौर पर जानकारी देते हुए बताया कि केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने शुक्रवार को सभी केंद्रीय विश्वविद्यालयों के कुलपतियों के साथ एक अहम बैठक की अध्यक्षता करते हुए विश्वविद्यालयों को अक्तूबर 2021 तक रिक्त 6,000 पदों को भरने के लिए मिशन मोड पर काम करने के लिए प्रोत्साहित किया। 

वहीं, दूसरी बैठक के दौरान, भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थानों के साथ संवाद करते हुए केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने बताया कि भारतीय स्वतंत्रता के 75 वें वर्ष के उपलक्ष्य में आजादी का अमृत महोत्सव' पहल के तत्वावधान में सभी 23 आईआईटी का आर एंड डी मेला (research and development fair) नवंबर, 2021 में आयोजित होने वाला है। प्रधान ने कहा कि यह आर एंड डी मेला बेहतर समझ को बढ़ावा देगा और IIT में क्षमताओं और उच्च प्रौद्योगिकी तत्परता स्तरों पर भारतीय उद्योग के बीच जागरूकता पैदा करेगा। 

प्रधान ने मेले में आईआईटी को प्रधान ने ऊर्जा प्रणालियों, संचार उपकरणों, अपशिष्ट प्रबंधन, संरचनात्मक और वास्तुकला में पारंपरिक ज्ञान के एकीकरण, स्थानिक अनुसंधान, आदि पर विषयगत सत्रों के लिए फोकस क्षेत्रों को प्राथमिकता देने का भी सुझाव दिया। मेले के लिए केंद्रित क्षेत्रों में 10 विषयों की पहचान की गई है और इन विषयों पर 23 आईआईटी द्वारा लाई गई 72 परियोजनाओं को समिति द्वारा शॉर्टलिस्ट किया जाएगा। 

शिक्षा मंत्री ने कहा कि उचित जांच के बाद, इन परियोजनाओं को दो दिवसीय मेगा इवेंट में छात्रों, युवाओं और शोधार्थियों और दर्शकों के सामने पेश किया जाएगा। इस कार्यक्रम के दर्शकों में भारतीय उद्योग और वैश्विक संस्थानों के भागीदार, विभिन्न सीएफटीआई के संकाय, डीआरडीओ, इसरो, सीएसआईआर और आईसीएआर के वैज्ञानिक शामिल होंगे। यह मेला नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति में परिकल्पित क्षेत्रों में अत्याधुनिक अनुसंधान के लिए एक सक्षम वातावरण तैयार करेगा।




No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।