25 वर्ष बाद खुला प्राथमिक विद्यालय बनरही के एक कक्ष का ताला - Tahkikat News

आज का Tahkikat

Tuesday, 29 March 2022

25 वर्ष बाद खुला प्राथमिक विद्यालय बनरही के एक कक्ष का ताला

25 वर्ष बाद खुला प्राथमिक विद्यालय बनरही के एक कक्ष का ताला

कृपा शंकर चौधरी ब्यूरो गोरखपुर

गोरखपुर। श्रीमान ज्वाइंट मजिस्ट्रेट उप जिलाधिकारी सदर गोरखपुर के आदेश दिनांक 21/02/ 2022 के क्रम में प्राथमिक विद्यालय बनरही के एक बंद कमरे को खोलने के संबंध में गठित कमेटी द्वारा जिसमें कमेटी सदस्य प्राथमिक विद्यालय प्रधानाध्यापक बनरही, ग्राम प्रधान ग्राम पंचायत बनरही, एसडीओ पंचायत पिपराइच खंड शिक्षा अधिकारी पिपराइच खंड विकास अधिकारी पिपराइच द्वारा उक्त विद्यालय के बंद कमरे को खोलने की संस्तुति दी गई हैं। ततक्रम में आज दिनांक 28/03/ 2022 को उक्त कमेटी के सभी सदस्यों की उपस्थिति में प्राथमिक विद्यालय बनरही के बंद कमरे को खोला गया तथा उक्त कमरे का कायाकल्प योजना के तहत जिर्णोद्धार हो सके इसके लिए कमेटी को सुपुर्द किया गया। बंद कमरे को खोलने पर 36 बोरी जमी हुई सीमेंट प्राप्त हुई है।
दरअसल मामला यह है कि प्राथमिक विद्यालय बनरही में लगभग 25 वर्ष पहले हो रहे संकुल भवन के घटिया निर्माण  के दौरान दुर्घटना होने से दो लोगों को छोटे आई थी। यह मामला मीडिया में आई जिसके उपरांत शासन द्वारा निर्माण करा रहे प्रधानाध्यापक पर कार्रवाई करते हुए उनके पीएफ ठंड से ₹120000 भुगतान कराया गया और घटिया निर्माण सामग्री को एक कमरे में बंद करते हुए मौखिक तालाबंदी कर दी गई। इतने वर्ष बीत जाने के बाद भी किसी ने ताला खुलवाने का साहस नहीं किया किंतु अब बच्चों के उपयोग को ध्यान में रखते हुए बंद पड़े ताला को खुलवाने के लिए खंड शिक्षा अधिकारी से बात की गई और खंड शिक्षा अधिकारी ने त्वरित कार्रवाई करते हुए इस पर अमल किया और आखिरकार यह ताला खुल गया।
विदित हो कि इस कमरे के बन्द होने के कारण विद्यालय पर पठन पाठन प्रभावित हो रहा था जिसकी शिकायत कई बार प्रधानध्यापक द्वारा उच्चाधिकारियों से की गई थी परंतु कोई कार्यवाही नहीं हो पा रही थी। नवागत खण्ड शिक्षा अधिकारी सुरेंद्र प्रताप ने छात्रों की कठिनाई के दृष्टिगत अथक प्रयास से इस कक्ष को पुनः छात्रों के पठन पाठन के लिए उपलब्ध कराना सम्भव हो पाया।
सुरेन्द्र प्रताप ने सभी अधिकारियों एवं ग्रामवासियों को उनके सहयोग के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।