जिला पूर्ति अधिकारी एवं पूर्ति निरीक्षक के ऊपर लगा रिश्वत लेकर कोटेदार को बचाने का आरोप - Tahkikat News

आज का Tahkikat

Wednesday, 30 March 2022

जिला पूर्ति अधिकारी एवं पूर्ति निरीक्षक के ऊपर लगा रिश्वत लेकर कोटेदार को बचाने का आरोप

जिला पूर्ति अधिकारी एवं पूर्ति निरीक्षक के ऊपर लगा रिश्वत लेकर कोटेदार को बचाने का आरोप

राजित राम यादव बस्ती

बस्ती विकास खण्ड बस्ती सदर के ग्राम पंचायत सोनूपार के कोटेदार के भ्रष्टाचार के विरूद्व ग्रामीण लामबन्द हो गये है। ग्राम पंचायत के खखुआ निवासी राकेश मणि त्रिपाठी सहित दर्जनों ग्रामीण जिलापूर्ति अधिकारी, जिला पूर्ति निरीक्षक बस्ती सदर, ग्राम प्रधान व कोटेदार के विरूद्व मोर्चा खोल दिया। शिकायत कर्ताओं ने जिला पूर्ति अधिकारी वी पूर्ति निरीक्षक पर रिश्वत लेकर शिकायत को दबा लेने का आरोप लगाया है। मामले की शिकायत मुख्यमंत्री, खाद्य व रशद मंत्री, प्रमुख सचिव खाद्य व रशद, मंडलायुक्त व जिलाधिकारी से मिलकर व पंजीकृत डाक से भेजा है।
शिकायतकर्ता का आरोप है कि उक्त अधिकारियों की मिलीभगत से ग्राम पंचायत सोनूपार का कोटा पड़ोसी गांव ताड़ीजोत से संचालित किया जा रहा है। कोटेदार पर घटतौली करने व कोटे के राशन को खुले बाजार में बेच देनें जैसे गम्भीर आरोप लगाये गये है। विकास खण्ड बस्ती सदर के ग्राम पंचायत सोनूपार का कोटा पिछले 20 वर्षों से ग्राम पंचायत ताड़ीजोत के दशकोलवा निवासी मेवालाल द्वारा संचालित किया जा रहा है, जबकि ग्राम पंचायत सोनूपार के अलावा खखुआ, बल्लीपट्टी व उमरी भी इसी ग्राम सभा में सम्मिलित है। ग्राम पंचायत में 3 हजार से अधिक आबादी होने के बावजूद ग्राम पंचायत का कोटा गैर गांव से संचालित होने पर ग्रामीण आक्रोशित है। 
 शिकायतकर्ता ने नियमों का हवाला देते हुए कहा कि सार्वजनिक वितरण प्रणाली के नियमों के अनुसार ग्राम पंचायत का कोटेदार उसी गांव का मूल निवासी होना चाहिए। लेकिन जिला पूर्ति अधिकारी, पूर्ति निरीक्षक बस्ती सदर व ग्राम प्रधान की मिलीभगत के कारण ग्राम पंचायत का कोटा पिछले 20 वर्षों से गैर ग्राम पंचायत से संचालित हो रहा है। मुख्यमंत्री से लेकर
उच्चाधिकारियों को भेजे गये शिकायत पत्र में शिकायत कर्ता ने आरोप लगाया है कि जिला पूर्ति अधिकारी, जिला पूर्ति निरीक्षक बस्ती सदर ग्रामीणों के द्वारा की गयी शिकायत को कमाई का जरिया बना लेते है और रिश्वत लेकर मामले को दबा देते है। शिकायत पर उचित कार्यवाही न होने से नाराज शिकायतकर्ता ने जिला पूर्ति अधिकारी, पूर्ति निरीक्षक बस्ती सदर, ग्राम प्रधान व कोटेदार के विरूद्व प्राथमिकी दर्ज करानें की मांग की गयी है। 



No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।