उर्दू भारत मे जन्मी भाषा - प्रो. राजेश मिश्रा - Tahkikat News

आज का Tahkikat

Wednesday, 30 March 2022

उर्दू भारत मे जन्मी भाषा - प्रो. राजेश मिश्रा

उर्दू भारत मे जन्मी भाषा - प्रो. राजेश मिश्रा

कैलाश सिंह विकास वाराणसी
डीएवी पीजी कॉलेज के उर्दू  विभाग के तत्वावधान में मंगलवार को उर्दू ज़बान:आगाज़- ओ - इरतेक़ा विषयक पर एक विशिष्ट व्याख्यान का आयोजन किया गया। मुख्य वक्ता  आर.आई.ई (इन.सी.ई.आर.टी) अजमेर के शिक्षा संकाय प्रमुख एवं विभागाध्यक्ष शिक्षा संकाय प्रो. राजेश मिश्रा ने विचार व्यक्त किया। उन्होंने उर्दू भाषा के विकास पर प्रकाश डालते हुए विभिन्न क्षेत्रो में इसके बदलते प्रारूप एवं महत्त्व की विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने कहा की उर्दू एक ऐसी भाषा है जो हर ज़माने में पसन्द की गई और आज भी इसके चाहने वाले दुनिया के कोने कोने में मौजूद हैं, ये किसी विशेष धर्म एवं जाति की भाषा नहीं बल्कि भारतीय भाषा है यही जन्मी और यही परवान चढ़ी। कार्यक्रम की अध्यक्षता डॉ. मिश्रीलाल एवं संचालन डॉ. तमन्ना शाहीन ने किया। स्वागत वक्तव्य डॉ. हबीबुल्लाह एवं धन्यवाद ज्ञापन डॉ. राकेश कुमार राम ने दिया। इस अवसर पर डॉ. कमालुद्दीन शेख, डॉ. मुकेश कुमार सिंह, डॉ. राकेश द्विवेदी, डॉ. नजमुल हसन, डॉ. नीलम सिंह सहित बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएँ उपस्थित रहे।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।